संस्थापक श्री के सेवा कार्यों की चर्चा देश के बड़े मीडिया संस्थानों में

संस्थापक श्री के सेवा कार्यों की चर्चा देश के बड़े मीडिया संस्थानों में

कोरोना संकट के समय आदरणीय संस्थापक श्री जयप्रकाश दूबे जिन्हें हम प्यार से जेपीभैया कहकर बुलाते हैं, ने सबसे पहले 27 मार्च को पत्र लिखकर बाहर फंसे मजदूरों को लाने की बात रखी।

किमसे के अन्य पदाधिकारी गणों ने दिन रात एक करके औद्योगिक नगरों में फंसे लोगों को वापस लाने की मांग तेज कर दी, जिस पर सरकार झुकी और लोगों को उनके घर लाने  की योजना पर अमल शुरू हो गया।

 

माननीय जेपीभैया जी ने संगठन के स्वयंसेवक गणों को लगातार अपने अपने विस्तार में सेवा प्रकल्पों को संचालित करने का आदेश दिया और कहा कि जहाँ भी किसान मजदूर सेना सक्रिय है वहां कोई भी श्रमिक व जरूरतमन्द भुंखों नही सोएगा।

 

संगठन द्वारा अनाज, मास्क, साबुन, सब्जी व अन्य जीवनोपयोगी वस्तुएं निरन्तर जरूरतमंदों को दी जा रही हैं।

किसान मजदूर सेना द्वारा कई गांवों को भी सेनिटाइज किया जा रहा है वह भी स्वयंसेवकों के द्वारा।